मध्य प्रदेश 

भटकता भारत रोजी रोजगार के लिए दर-दर भटकते भारतीय मजदूर को समय पर नहीं मिल रही मजदूरी,,,,

5 Views

भटकता भारत

रोजी रोजगार के लिए दर-दर भटकते भारतीय मजदूर को समय पर नहीं मिल रही मजदूरी,,,,

कोरोना काल के दौरान हुएं लाक डाउन के बाद देश में मजदूर की मजबूरी का फायदा उठाने का चलन कोरोना की पहली लहर की तरह तेजी से बढ़ता जा रहा है ॽ मजदूरों की मजबूरी का भरपूर फायदा कंट्रक्शन माफिया भी उठा रहे हैं ऐसे कई मामले देश दुनिया से लगातार सामने आते रहते हैं जहां मजदूरों को समय से मजदूरी नहीं दी जाती है जिसके बाद मजबूर मजदूर दर-दर भटकने को मजबूर हैं ऐसा ही एक मामला मंदसौर जिले से प्रकाश में आया है यहां जिले के सीतामऊ थाना प्रभारी को मजदूरों ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कंपनी से अपनी मेहनत का रुपैया दिलाने के लिए गुहार लगाई है मजदूरों द्वारा दिए गए आवेदन में मजदूरों ने अपनी आपबीती का बखान करते हुए थाना प्रभारी को कंपनी के खिलाफ दिए गए आवेदन में स्पष्ट बताया कि उनके पास खाने-पीने तक का संकट है बावजूद उनको 3 महीने से तनख्वाह नहीं दी जा रही है मजदूरी का पैसा मांगने पर नौकरी से निकाल दिया गया है 8 लाइन निर्माण के दौरान सिक्योरिटी का काम करने वाले लगभग 40 मजदूरों ने जी एस आर सिक्योरिटी सर्विस लिमिटेड कंपनी के खिलाफ सीतामऊ थाने पर आवेदन में भी बताया है कि जब उनके द्वारा पैसों की मांग की गई तो कंपनी ने उन्हें काम से निकाल दिया पीड़ितों ने पुलिस को दिए गए आवेदन में बताया कि उनके गांव शहर मंदसौर से लगभग 600 किलोमीटर पड़ते हैं उनके पास किराए के पैसे तक नहीं है ऐसे में वह खाना-पीना कहां से करें और कैसे घर जाए अपने परिवार का खर्चा कैसे चलाएं यह बड़ा संकट है। बेरोजगारी की मार झेल रही जनता दर दर भटक रही है वैसे भी आधुनिक संसाधनों ने गरीबों का रोजगार छीन लिया है पूंजीपतियों को मजदूर वर्ग के शोषण को रोकने के लिये जमीनी स्तर पर काम करना होगा नही तो अमानवीय व्यवहार से अराजकता का माहौल तैयार हो रहा है मजदूर की मजदूरी पसीना सूखने से पहले मिलना चाहिए बावजूद देश के मजदूरों को आजाद भारत में मजदूरी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है यह गहन चिंता का विषय है।

मंदसौर ब्यूरो शैलेंद्र सोनी

Related posts

Leave a Comment

error: Content is protected !!