मध्य प्रदेश 

अभिनंदन नगर में रहने वाली रिटायर्ड शिक्षिका की मौत के मामले में पुलिस ने किया खुलासा पड़ोसी ने उतार दिया रिटायर्ड शिक्षिका को मौत के घाट

3 Views

अभिनंदन नगर में रहने वाली रिटायर्ड शिक्षिका की मौत के मामले में पुलिस ने किया खुलासा पड़ोसी ने उतार दिया रिटायर्ड शिक्षिका को मौत के घाट

कर्जे के दलदल में डूबे पंचर बनाने वाले हेमंत व्यास को पुलिस ने किया गिरफ्तार,,,,,

मंदसौर जिले में महिलाओं की हत्या के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं बीते दिनों भावगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम बनी में महिला की दर्दनाक तरीके से हत्या कर दी गई थी पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दिया था जहां से उसे जेल भेज दिया गया है ऐसे ही एक मामले में भावगढ़ कस्बे में एक महिला की हत्या कर दी गई थी पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए हत्यारे पति को गिरफ्तार कर लिया था तथा हत्या में उपयुक्त कुल्हाड़ी को भी पुलिस ने जप्त कर लिया था ऐसे ही लगातार मंदसौर जिले में महिलाओं की हत्या के मामले बढ़ते जा रहे हैं जो कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रहे हैं हाल ही में अभिनंदन नगर में रहने वाली एक रिटायर्ड शिक्षिका को उसके ही पड़ोसी ने मौत के घाट उतार दिया था सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची तथा शव का पंचनामा बनाकर शव को पीएम के लिए भेज दिया था मामले की गंभीरता को देखते हुए नवागत जिला पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया द्वारा चार अलग-अलग थाने के टीआई सहित वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम गठित कई की गई थी उक्त टीम ने मामले में जांच के दौरान मृतक शिक्षिका के पड़ोसी हेमंत व्यास से पूछताछ की पूछताछ के दौरान आरोपी हेमंत व्यास ने पूरे घटनाक्रम के बारे में पुलिस को बताया दिनांक 12 फरवरी की शाम को शहर कोतवाली पुलिस को सूचना प्राप्त हुई थी कि अभिनंदन क्षेत्र के पद्मावती नगर में एक महिला का शव उनके ही घर के बाथरूम में मृत अवस्था में प्राप्त हुआ है । सूचना प्राप्त होने पर पुलिस द्वारा मौके पर पहुचकर तस्दीक उपरांत प्रथम द्रष्ट्या संदेहास्पद होना पायी गयी । समस्त प्रारम्भिक वैधानिक करवाही संपादित कर थाना कोतवाली पर मर्ग क्र 06/2022 धारा 174 जा.फौ. का पंजीबद्ध कर जाँच मे लिया गया तथा मार्ग जांच उपरांत हत्या होना पाये जाने से अप क्र 97/2022 धारा 302,201,120-B IPC दर्ज कर अनुसंधान मे लिया गया । मंदसौर जिला पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सूजानीया द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ अमित वर्मा के नेतृत्व में तथा नगर पुलिस अधीक्षक परमाल सिंह मेहरा के निर्देशन मे टीआई नई आबादी जितेंद्र सिसोदिया, टीआई वाय डी नगर जितेंद्र पाठक और टीआई टीआई नारायणगढ़ अवनीश श्रीवास्तव को भी टीम में सम्मिलित कर घटना की शीघ्र पतारसी हेतु निर्देशित किया। अलग अलग दिशाओ मे पतारसी हेतु टीम गठित की गयी । पुलिस टीम द्वारा विभिन्न दिशाओ के पहलुओ का आंकलन कर म्राटक की प्रष्टभूमि के संबंध मे जानकारी एकत्रित करना शुरू किया । पुलिस टीम द्वारा प्रारम्भिक जांच पड़ताल मृतिका की जानकारी प्राप्त करते रिटायर्ड शिक्षिका होकर अभिनंदन कॉलोनी स्थित अपने घर में अकेली रहा करती थी। कुछ ही दूरी पर स्नेह नगर में उनके बड़े भाई ओम प्रकाश मिश्रा भी रहते हैं । आखरी बार मृतिका को 11 फरवरी की शाम 7:30 बजे मंदिर जाते हुए देखा गया था , उसके बाद मोहल्ले वालों ने उन्हें नहीं देखा। दिनचर्या अनुसार सुबह चिड़ियों को दाना डालने उठती थी और मोहल्ले में बातचीत करते थे। 10:00 बजे लगभग घर का काम करने वाली बाई आई तो उसने देखा दरवाजे के बाहर से ताला लटका हुआ है जो अड़ोस पड़ोस में पूछताछ की तो कुछ भी मालूम नहीं हुआ । पड़ोसियों के अनुसार वह कभी ताला लटका कर नहीं जाती थी दिन भर भी जब नहीं लौटे तो पड़ोसी में संतोष मिश्रा के भाई ओम प्रकाश मिश्रा से फोन कर पूछा वह उनके यहां भी नहीं गई थी। भाई ओम प्रकाश मिश्रा किसी आशंका से संतोष मिश्रा के घर आए और ताला तोड़कर घर में प्रवेश किया तो अंदर जाकर देखा कि घर की सभी लाइट बंद है । स्विच ऑन करने के बाद देखा तो मृतिका अपने वॉशरूम में पीठ के बल थी और उनका देहावसान हो चुका था। मामले में मौके पर उप निरीक्षक नेहा जैन द्वारा मर्ग कायम किया गया उपनिरीक्षक बृजेश दुबे द्वारा पीएम रिपोर्ट के आधार पर हत्या का प्रकरण दर्ज कर थाना प्रभारी द्वारा विवेचना प्रारंभ की गई । संदेह के आधार पर पुलिस ने आसपास लोगों से दिनचर्या और उनके पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी एकत्रित की गयी । इसी तारतम्य मे एक विशेष तथ्य गोपनीय सूचना के आधार पर ज्ञात हुआ कि 11 फरवरी की शाम मृतिका को उनके मकान के सामने रहने वाले हेमंत व्यास से बातचीत करते हुए लगभग 7:30 बजे देखा गया था। उसके बाद हेमंत की पृष्ठभूमि की जानकारी ली गई जो हेमंत के पिता का स्वर्गवास हो चुका है माता उसकी आदतों से परेशान होकर उसकी बुआ के यहां उदयपुर रहती हैं पत्नी बच्चे नहीं है अकेला निवास करता है शराब खोरी जुआ खेलने और अय्याशी करने का आदी है इसके ऊपर कुछ कर्जा भी हो चुका था। हेमंत व्यास को पुलिस द्वारा हिरासत मे लेकर हिकमत अमली से पूछताछ करने पर उसके द्वारा घटना करना स्वीकार किया तथा बताया कि उस पर लगभग ₹200000 का कर्जा था और काम धंधा भी कुछ खास नहीं था। मृतिका अपने घर पर अकेली रहती थी व रिटायर्ड शिक्षिका थी तो उनके पास पर्याप्त पैसा होगा। इसी बात को ध्यान में रखते हुए कुछ दिनों से ही उन पर नजर रखा था और 11 फरवरी को कोई एप्लीकेशन बनवाने के नाम पर उनके घर में प्रवेश किया। पूर्व में भी संतोष मिश्रा के यहां से भोजन प्राप्त कर लेता था क्योंकि स्वर्गीय मिश्रा अकेली रहती थी और हेमंत को गरीब ब्राह्मण समझ कर भोजन अपने घर से दे दिया करती थी रात्रि में अपनी बहन की टीसी निकलवाने का बहाना बनाकर उनके घर में प्रवेश किया और खाना भी मांगा जब वह किचन में जाने लगी तो पीछे से जाकर धक्का दिया जिससे वह घबरा कर गिर पड़े और बेडरूम तरफ गई तो सर पलंग में लगा जिससे उनके चेहरे पर चोट लगी। घबराकर उनकी जुबान दातों के बीच में फस गई और खून आ गया। जोर से चीखने की कोशिश की तो मुंह दबा कर दीवाल में दो बार मार दिया। जिससे की वह अचेत होकर गिर पड़ी । उनके शरीर को घसीट कर बाथरूम में ले जाकर इस तरीके से रख दिया जैसे कि बाथरूम में खुद ही गिर पड़ी हो और घर की सभी लाइटें बंद कर बैठ गया। उनकी अलमारी को टटोला तो कुछ नहीं मिला उनके पर्स में रखे हुए ₹20000 निकाल लिए और गले से चैन भी उतार ली हाथ के कड़े उतारने की कोशिश की परंतु नहीं उतरे । खिड़की में से झांक कर देखा जब गली में आवागमन बंद हो गया तो घर की चाबियां और मोबाइल लेकर घर के बाहर निकला दरवाजे पर ताला लटका कर अपने घर जाकर सो गया । आरोपी को गिरफ्तार कर निशानदेही पर मोबाइल जप्त व घर की चाबियां बरामद कर ली गई है।
गिर आरोपी के नाम- 01. हेमंत व्यास पिता देवकिशन व्यास उम्र 32 वर्ष निवासी अभिनंदन कॉलोनी मंदसौर
बरामद मशरुका – घर की चाबिया ओर मृतिका का मोबाइल
पुलिस टीम:- उक्त कार्यवाही में श्री जितेन्द्र सिंह सिसौदिया, थाना प्रभारी ऩई आबादी, निरीक्षक अमित सोनी थाना प्रभारी कोतवाली , उप निरीक्षक बृजेश दुबे नेहा जैन जितेंद्र चौहान सहायक उपनिरीक्षक साजिद मंसूरी प्रधान आरक्षक विनोद नामदेव साइबर सेल आशीष बैरागी, मुजफ्फर व मनीष, महिला प्रधान आरक्षक अनिता चौधरी आरक्षक मोहित चौहान का विशेष सरहनीय योगदान रहा

Related posts

Leave a Comment

error: Content is protected !!