देश-विदेश मध्य प्रदेश स्वास्थ्य 

मेडिकल कॉलेज में लाया,नहीं में लाया,,,श्रेय लेने की होड़ में खो गया मेडिकल . मंदसौर मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति के बावजूद चुका है निर्माण में राजनीतिक व व्यवसायिक अड़ंगा.,,,

5 Views

मेडिकल कॉलेज में लाया,नहीं में लाया,,,श्रेय लेने की होड़ में खो गया मेडिकल . मंदसौर मेडिकल कॉलेज की स्वीकृति के बावजूद चुका है निर्माण में राजनीतिक व व्यवसायिक अड़ंगा.,,,

मंदसौर क्षेत्र की स्वास्थ्य सुविधाओं की बात करें तो जनता के लिए कुछ खास नहीं है अभी हाल ही में स्वीकृत हो गए मेडिकल कॉलेज से उम्मीदें जागी पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते अधर में लटकी हुई है स्वार्थी भू माफिया व पूंजीपतियों के निजी हितों की सेटिंग में मेडिकल कॉलेज के निर्माण में विलंब होता जा रहा है क्षेत्र की जनता को उदयपुर अहमदाबाद के प्राइवेट हॉस्पिटलों मैं महंगा इलाज कराने पर मजबूर किया जा रहा है स्थानीय नेताओं का जनता के प्रति संवेदनहीन रवैया लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है मंदसौर जिले के मरीजों को दूरस्थ इलाज के लिए जाने के पीछे स्वास्थ्य माफियाओं की चैनल का भी सामना करना पड़ता है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री को जनता के इस दुख को समझते हुए मेडिकल कॉलेज की वैकल्पिक व्यवस्था कर शुरुआत करनी चाहिए जिससे क्षेत्र की जनता कमीशन खोरो एंबुलेंस माफियाओं के चुंगल से मुक्त हो सके स्वास्थ्य सुविधाओं के नाम पर मंदसौर जिला चिकित्सालय केवल रेफरल अस्पताल बनकर रह गया है ऐसे में जनप्रतिनिधियों को जनता के लिए एक होकर साथ आना चाहिए हाल ही में कोरोना संक्रमण का खतरा टल ते ही डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही हैं प्राइवेट अस्पतालों द्वारा मरीजों से मुनाफा कमाया जा रहा है ऐसे संकट के समय में मेडिकल कॉलेज की कमी और ज्यादा खल रही है क्षेत्रीय सांसद श्री सुधीर गुप्ता ने हाल ही में मंदसौर की पुस्तक विमोचन कर प्रधानमंत्री जी को भेंट की है उसमें वह बताना सायद भूल गए की आपसी फूट फजी तो से क्षेत्र की जनता मारी मारी फिर रही हैं उन्हें अपनी इस हिस्टोरिकल किताब में यह भी बताना चाहिए था कि मंदसौर के एकमात्र तेलिया तालाब को माफियाओं द्वारा कैसे निगला जा रहा है क्षेत्र का बहुसंख्यक वर्ग अपने आपको कैसा ठगा सा महसूस कर रहा है इतना ही नहीं धारा 29 के नाम पर किस प्रकार से जिले में होने वाले इन डीपीएस के बाद आम जनता से वसूली हो रही है शायद यह भी बताना भूल गए हैं यह भी इस किताब में बताना चाहिए था क्षेत्रीय सांसद महोदय को फोटो खिंचवाने वह दिखावटी आडंबर की राजनीति कैसे की जाती है की मास्टर डिग्री का कोर्स भी अपनी किताब के माध्यम से सिखाना चाहिए शासन को जल्द ही वैकल्पिक व्यवस्था के माध्यम से मेडिकल कॉलेज की शुरुआत कर देना चाहिए ताकि आम और खास व्यक्ति को अच्छे स्वास्थ्य सुविधा जिले में मिल सके जिले की सड़कों की हालत ज्यादा खराब होने के कारण यहां आए दिन होने वाले दुर्घटनाओं के शिकार लोगों पर किस प्रकार का जुल्म इलाज के नाम पर होता है यह भी किसी से छुपा नहीं है अब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री और मुख्यमंत्री इस पूरे मामले में क्या एक्शन लेते हैं आने वाले समय में देखने को मिल सकता हैं,,,,,,,

शैलेंद्र सोनी,,,,, ब्यूरो खबरों का गुरु मंदसौर,,,,,

Related posts

Leave a Comment

error: Content is protected !!